Homeआगरा समाचारAgra Taj Mahal Rubber Dam को टीटी जेड एवं नीरी की मंजूरी...

Agra Taj Mahal Rubber Dam को टीटी जेड एवं नीरी की मंजूरी :Agra News

Agra News:  आगरा ताजमहल के पीछे बनेगा रबर डैम टीटी जेड एवं नीरी ने दी मंजूरी
सालों से चली आ रही  आगरा वासिओ की मांग पूरी होने वाले है। ताजनगरी के लोगों की मांग थी की यमुना नदी में रबर डैम बनाया जाए जिससे यमुना का पानी स्वच्छ व सुंदर दिखाई दे उसी की मंजूरी टीटी जेड और नीरी दे दी है .2017 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) ने आगरा के रबर डैम का शिलान्यास किया था उसके बाद रबर डैम का कार्य रुक गया था।अब 2022 में रबर डैम बनाने की मंजूरी मिल गई है रबर डैम बनने से ताजमहल के पीछे करीब 3.50 क्यूसेक पानी यमुना में रोका जा सकता है।

सोमवार को टीटी जेड की 56 वी बैठक में चेयरमैन एवं कमिश्नर अमित गुप्ता ने डैम निर्माण के लिए एनओसी जारी करने का निर्णय लिया रबर डैम की घोषणा होने के बाद शहर में खुशी का माहौल देखा जा रहा है शहर वासी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद दे रहे हैं कि उन्होंने रबर डैम बनाने की मंजूरी दी रबर डैम बनने के बाद जमुना में पानी बढ़ेगा और भूगर्भ जल स्तर का इजाफा होगा जिसके यमुना व स्वच्छ व सुंदर दिखाई देगी सालों से जमुना आरती स्थल महंत जुगल किशोर और उनकी टीम द्वारा मांग यमुना में रबर डैम बनाने की उनकी कोशिश रंग लाई और जल्दी निर्माण रबर डैम होने जा रहा है।

आगरा ताजमहल से गोकुल बैराज तक बनेगा जल मार्ग:

आगरा में Taj mahal से  लेकर मथुरा गोकुल बैराज तक जल मार्ग बनाया जायेगा और साथ ही साथ Rubber Dam निर्माण को भी मंजूरी मिल गयी है । और आगरा वासिओं के लिए ख़ुशी की बात ये है कि ताज महल के पीछे यमुना नदी पर बनने वाले Rubber Dam के निर्माण की समय सीमा भी तय हो गयी है ।

National Environmental Engineering Research Institute  को भेजे गए प्रपोज़ल में कमिटी ने कहा था अगर ताज महल के पीछे यमुना पर Rubber Dam बनेगा तो पर्यटन को भी फायदा होगा। Rubber डैम निर्माण में लगभग आठ महीने लगेंगे।

Rubber डैम निर्माण कार्य के दौरान  वायु प्रदूषण न बड़े इसलिए भारी बाहनो की एंट्री पर रोक रहेगी. इसके अलावा जेनरेटर सेट के इस्तेमाल पर पाबंदी होगी। सिर्फ बिजली से ही काम किया जाएगा, आपात स्थिति में ही जनरेटर सेट इस्तेमाल किया जा सकेगा। वहीं, यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी को नोडल अफसर नामित किया गया है, क्षेत्रीय अधिकारी रबर डैम निर्माण के वक्त वायु प्रदूषण की निगरानी करेंगे। इनके अलावा एएसआई, पर्यावरण और नीरी की कमेटी का गठन किया जाएगा। यह कमेटी निर्माण कार्य के दौरान प्रदूषण की जांच करेगी।

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular