राष्ट्र सापेक्ष पत्रकारिता को ध्येय बनाएः सुभाष चन्द्र सिंह

0
25
पत्रकारिता

उत्तर प्रदेश एसोसिएशन ऑफ जर्ऩलिस्ट्स का प्रदेशीय सम्मेलन संपन्न लखनऊ,24 अगस्त 2022, राज्य सूचना आयुक्त सुभाष चन्द्र सिंह ने कहा है कि पत्रकारों को राष्ट्र सापेक्ष पत्रकारिता को ध्येय बनाना चाहिए। राष्ट्र सापेक्ष या राष्ट्र निरपेक्ष पत्रकारिता के द्वंद में न फंसते हुए राष्ट्रहित को सर्वोपरि रखकर ही पत्रकारिता करनी है।

आज मार्केट पत्रकारिता को प्रभावित कर रही है। हमें मार्केट आधारित पत्रकारिता से बचकर राष्ट्रीय दृष्टि को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए।श्री सिंह बुधवार को यहां शारदा नगर स्थित रजनी खंड स्थित आर.बी.एम.बैंकेट हाल में आयोजित उत्तर प्रदेश एसोसिएशन आफ जर्नलिस्ट्स के प्रदेश स्तरीय सम्मेलन को मुख्य अतिथि पद से संबोधित कर रहे थे।राज्य सूचना आयुक्त श्री सिंह ने कहा कि हम समाचार लिखते हुए यह अवश्य देंखें कि इससे कहीं कोई राष्ट्रीय अहित तो नहीं होगा। उन्होंने नवोदित पत्रकारों से अपील की कि वे पढ़ने की प्रवृत्ति बनाये रखें। जो पढ़ा जाता है वह लेखनी और वाणी दोनों में प्रकट होता है।

पत्रकारिता के वर्तमान परिदृश्य पर चर्चा करते हुए श्री सिंह ने कहा कि आज मीडिया में विश्वसनीयता का महासंकट है। लेकिन, संतोष की बात यह है कि प्रिंट मीडिया आज भी अपनी विश्वसनीयता को कायम रखने में सक्षम है। लोग समाचार पत्रों पर आज भी विश्वास कर रहे हैं। उसका कारण है चेक एंड बैलेंस का सिस्टम।
यह सिस्टम आज भी प्रिंट मीडिया में विद्यमान है, क्योंकि वहां हमें समाचार को प्रकाशित करने के लिए चौबीस घंटे का समय मिलता है। इस कारण संपादक और उनकी टीम उसको मांझने का काम कर लेती है, तथ्यों की पऱख कर ली जाती है। जबकि इलेक्ट्रानिक और सोशल मीडिया में समय की अभाव होता है त्वरित प्रकाशन और आन एयर किये जाने के कारण चेक और बैलेंस के लिए समय ही नहीं होता है।

उन्होंने कहा कि आज पत्रकारिता का स्वरूप बदल रहा है। अब मीडिया का एक बडा हिस्सा सोशल मीडिया ने लिया है। आज सौ करोड़ लोगों के मोबाइल और स्मार्टफोन हैं, ये सभी पत्रकार हैं। एक तरह से सौ करोड़ पत्रकार काम कर रहे हैं। इन्होंने समाचार पत्रों और संस्थानों और इलेक्टानिक मीडिया संस्थानों के एकाधिकार को भी तोड़ा है, क्योंकि सभी सोशल मीडिया में सक्रिय हैं और कहीं से भी कभी भी अपनी खबर को प्रसारित करने में सक्षम हैं।

श्री सिंह ने कहा उत्तर प्रदेश में राष्ट्रवादी सोच, राष्ट्रीवादी विचार के पत्रकारों को इस संगठन उत्तर प्रदेश एसोसिएशन ऑफ जर्नलिस्ट्स के माध्यम से सशक्त नेतृत्व मिला है। संगठनों में आपसी प्रतिस्पर्धा होना तो ठीक है लेकिन दुश्मनी नहीं होनी चाहिए। सभी को पत्रकारों के संगठन के लिए काम करना है। लेकिन, इस बात भी का भी ध्यान रखें कि पत्रकारों के बीच संगठन करना है या पत्रकारों का संगठन करें।इस अवसर पर चंडीगढ से पधारे नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स ( इंडिया ) एऩयूजेआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक मलिक ने कहा कि समाज को जोड़ने की पत्रकारिता करनी है।

हम समाज के प्रति ही प्रतिबद्ध हैं,यह भावना हमेशा समाज को जोड़ने वाली पत्रकारिता को बढ़ाती है। उन्होंने कहा कि एऩयूजे ने पत्रकारों के व्यवसायिक कार्यो को उच्चस्तर पर बनाये रखने और पत्रकारों के आचरण के लिए 1981 में ही आचार संहिता बना ली थी। इसे एऩयूजे के आगरा में आयोजित चौथे राष्ट्रीय सम्मेलन में जारी किया गया था। इसी लिए इस आचर संहिता को पत्रकारों का आगरा घोषणा पत्र कहा गया था।

भोपाल से सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे राष्ट्रीय महासचिव सुरेश शर्मा ने कहा कि देश में न्यापालिका, विधायिका, कार्यपालिका और पत्रकारिता चार स्तंभ माने जाते हैं। हालांकि चौथे स्तंभ के रूप में हमें कहीं से वैधानिक मान्यता नहीं है, लेकिन माना जाता है और सर्वाधिक विश्वसनीयता भी इसी स्तंभ की है। जब सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को भी अपनी बात कहनी होती है, वे पत्रकारों को बुलाकर प्रेस वार्ता करते हैं।

उन्होंने कहा कि हम इन चारों को स्तंभों को बड़े रूप में देखते हैं। जब हम इनके कार्यों की चर्चा और विचार करते हैं तो विशालता में देखना चाहिए। न्यायपालिका का विवेक विशाल होना चाहिए, कार्यपालिका के हाथ बड़े होने चाहिए, विधायिका का हृदय विशाल होना चाहिए और पत्रकारिता की दृष्टि विशाल होनी चाहिए।

सम्मेलन में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष त्रियुग नारायण तिवारी, राष्ट्रीय सचिव आभा निगम, राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य राजीव शुक्ला, हरेन्द्र चौधरी, फल कुमार, कार्यक्रम संयोजक बिलाल किदवई और जिलों से आये जिला अध्यक्षों, महामंत्रियों ने भी विचार व्यक्त किये। महामंत्री राधेश्याम लाल कर्ण ने संगठन के पंजीकरण और आगामी कार्ययोजना की जानकारी दी। अध्यक्ष सर्वेश कुमार सिंह ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया।

सूचना आयुक्त का हुआ अभिनन्दन

कार्यक्रम में पत्रकारों ने राज्य सूचना आयुक्त सुभाष चन्द्र सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक मलिक, राष्ट्रीय महासचिव सुरेश शर्मा, राष्ट्रीय सचिव आभा निगम एवं चिकित्सक डा. रमेश श्रीवास्तव का अभिनन्दन किया गया। सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह एवं अंगवस्त्र भेंट किया गया। कार्यकारिणी के लिए सर्वेश कुमार सिंह अध्यक्ष राधेश्याम लाल कर्ण महामंत्री उत्तर प्रदेश एसोसिएशन आफ जर्नलिस्ट्स ( पंजीकृत) के लिए कार्यकारिणी में सर्वेश कुमार सिंह ( लखनऊ ) को अध्यक्ष, राधेश्याम लाल कर्ण ( रायबरेली ) को महामंत्री तथा बालमुकुंद ( प्रयागराज ) को कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके साथ ही कार्यकारिणी में पांच उपाध्यक्ष, पांच मंत्री तथा कार्यकारिणी सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here