पाँच दिन में धार्मिक स्थलों से उतरवाए गए 2129 लाउडस्पीकर, 2619 की आवाज हुई कम: loudspeaker controversy

0
113
loudspeaker-controversy

Agra News: loudspeaker controversy बढ़ती ही जा रही है।धार्मिक स्थलों पर लगे लाउडस्पीकर का मामला गर्माया हुआ है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त हैं। उच्च न्यायालय के पहले से सख्त आदेश हैं। ध्वनि कितनी होनी चाहिए इसके मानक हैं। इसके बावजूद धर्म की आड़ में मनमानी चल रही थी। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस प्रशासन की टीम हरकत में आई। और महज पांच दिन के अभियान में आगरा जोन में 2129 लाउडस्पीकर उतर गए। 2619 की ध्वनि कम कराई गई है। साथ ही सख्त हिदायत दी गयी कि रात दस बजे से सुबह छह बजे तक कहीं लाउडस्पीकर नहीं बजेगा।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर पुलिस प्रशासन ने प्रयास किए तो कुछ दिन में ही बेहतर नतीजे सामने आ गए। आठ जिलों में 2129 लाउडस्पीकर हट गए। खास बात यह है कि एक जगह भी कोई विवाद नहीं हुआ। कई जगह तो टीम के पहुंचने से पहले लोगों ने खुद लाउडस्पीकर उतार दिए। एडीजी जोन राजीव कृष्ण ने बताया कि लगभग 3000 लाउडस्पीकर की ध्वनि 45 डेसिबल सेट कराई गई है।

800 के करीब लाउडस्पीकर(loudspeaker controversy) उतारे गए आगरा शहर में:

एडीएम सिटी अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि आगरा शहर में लगभग 800 लाउड स्पीकर उतारे गए । कुछ स्पीकर हिंदू मंदिर से तो कुछ स्पीकर मस्जिद से उतारें गए । बताया कि सभी धार्मिक स्थलों को सख्त कहा गया था कि बिलकुल भी लहपरवाही नही बरती जाए । जिनके पास परमिशन नहीं है वह तुरंत अपने लाउडस्पीकर उतारे वह जिनके पास परमिशन थी उनको कहा गया था कि एक लिमिट के अनुसार वह स्पीकर बजाएं।

यूपी में लगातार लाउडस्पीकर को लेकर चल रहा था विवाद:

यूपी में लाउडस्पीकर को लेकर हिंदूवादी नेताओं में और मुस्लिम संगठन के नेताओं में विवाद चल रहा था ।
मुस्लिम समुदाय के लोग 1 दिन में 5 बार लाउडस्पीकर बजाते है जिसका विरोध हिंदू नेताओं ने कहा कि स्पीकर बजाकर हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ेंगे । जगह जगह यूपी में लाउडस्पीकर को लेकर विवाद हो रहा था ऐसी घटनाएं लगातार सामने आ रही थी जिसके बाद योगी सरकार ने सख्त आदेश दिए थे कि धार्मिक स्थल पर नई लाउडस्पीकर बिल्कुल नहीं बजेंगे जिनके पास परमिशन है वही लाउडस्पीकर बजेंगे वह भी ध्वनि प्रदूषण की सीमा के अंतर्गत लाउड स्पीकर बजेंगे। इस नियम को यूपी के सभी जिलों में फॉलो किया गया पुलिस प्रशासन व जिलाधिकारी प्रशासन loudspeaker controversy को रोकने के लिए पुरे प्रयास कर रहे है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here