एक बार फिर गरमाया ताजमहल(Taj Mahal) के धार्मिक स्थल होने का मामला: Agra News

0
86

Agra News: एक बार फिर गरमाया ताजमहल(Taj Mahal) के धार्मिक स्थल होने का मामला अयोध्या के जगत गुरु परमहंस दास(jagadguru paramhans das) ने किया ऐलान कि 5 मई को आएंगे तेजो महालय में शिव जी के दर्शन करने और वही प्राण प्रतिष्ठा का कार्य करेंगे जिसके लिए आह्वान किया कि सभी हिंदू भाइयों बहनों को आमंत्रण किया 5 मई को ताजमहल पहुंचने के लिए ।

भगवा कपड़े ब्रह्म दंड के लिए एएसआई के लोगों ने ताजमहल में प्रवेश करने से रोका था:

आपको बता दें कि बीते दिनों जगतगुरु परमहंस(jagadguru paramhans das)आगरा आए थे शाम के वक्त ताजमहल घूमने के लिए पहुंचे लेकिन भगवा कपड़े व हाथ में ब्रह्मदंड लिए ताजमहल में प्रवेश करना चाहते थे लेकिन एएसआई के अधिकारियों ने ताजमहल में प्रवेश करने से उन्हें रोक दिया था जिस वजह से नाराज होकर वहां से लौट गए वीडियो बना कर कहा कि भगवा कपड़े होने की वजह से मुझे ताजमहल में प्रवेश नहीं दिया गया योगी सरकार में साधु संतों का अपमान किया।

हिंदूवादी नेताओं ने किया था जबरदस्त प्रदर्शन

जगत गुरु परमहंस(jagadguru paramhans das) के ताजमहल में प्रवेश ना होने पर अगले ही दिन आगरा में सभी हिंदू संगठनों ने जबरदस्त प्रदर्शन किया अखिल हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय जाट ने तो एएसआई का पुतला बनाकर एसआई ऑफिस के बाहर फूंकने का प्रयास किया था लेकिन पुलिस के लोगों ने पुतला फूंकने नहीं दिया ।तो वहीं राष्ट्रीय हिंदू परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोविंद पाराशर ने भगवा कपड़े पहन कर हाथ में ब्राह्दंड लेकर ताज महल में प्रवेश किया था कहा यदि किसी ने भी मुझे ताजमहल में जाने से भगवा कपड़े होने के कारण रोका तो मैं जबरदस्त प्रदर्शन भी करूंगा। कहा की योगी सरकार में साधु संतों का अपमान किया जा रहा है भगवा रंग के कपड़े पहनकर अंदर जाने नही दिया जा रहा जबकि मुस्लिम समुदाय के लोगों को बुर्का पहनकर, टोपी लगाकर जाने की अनुमति है । एक तरफा मानसिकता अपनाता है एसआई का अधिकारी जिस कारण पूरे आगरा में लगातार एएसआई अधिकारी का विरोध होता रहा है

माफी मांगने के बाद एएसआई अधिकारियों ने ताजमहल दोबारा घूमने के लिए आमंत्रित किया:

पुरातत्व अधीक्षक आरके पटेल(R.K Patel) ने मीडिया से बातचीत में बताया था कि इनको भगवा कपड़े की वजह से एएसआई की किसी भी अधिकारी ने नहीं लौटाया था बल्कि उनके हाथ में जो ब्रह्मांड था उसको रखकर जाने के लिए कहा था क्योंकि सिक्योरिटी की नजरिए से किसी भी व्यक्ति को अंदर किसी भी प्रकार का सामान ले जाने की परमिशन नहीं है जिस कारण से उनके ब्रह्मदंड को अंदर ले जाने नही दिया। मीडिया में मामला हाईलाइट होने पर आर के पटेल ने माफी मांगते हुए कहा था कि जगत गुरु परमहंस जी को मैं दोबारा ताजमहल घूमने के लिए आमंत्रित करता हूं जिसके बाद उन्होंने 5 मई को आने का एलान किया।

 

हिंदू भाई बहनों को तेजो महालय आने के लिए आमंत्रित किया जगत गुरु परमहंस(jagadguru paramhans das) ने कहा कि यथार्थ में नहीं तेजो महालय हैं और इस जगह शिव जी का मंदिर हुआ करता था इसलिए शिवजी में प्राण प्रतिष्ठा का कार्य मैं करूंगा इसलिए 5 मई को में दोबारा ताजमहल तेजो महालय आ रहा हूं इसलिए मैं आवाहन करता हूं अपने हिंदू भाई बहनों को कि 5 मई को सभी ताज महल पहुंचे और मेरे साथ शिवजी की पूजा अर्चना में सम्मिलित हो।

कई बार ताजमहल को तेजो महालय कहने पर हुआ है बवाल ताजमहल को तेजो महालय कहने का दावा करने वाले लोग पहले जगद्गुरु परमहंस जी नहीं है इनसे पहले भी कई हिंदू संगठन के लोगों ने यहां पर आकर ताजमहल में शिव जी की पूजा अर्चना की है जिसके बाद ताजमहल सुर्खियों का विषय बना रहा है क्योंकि कुछ हिंदू संगठन के लोग हैं आचार्य साधु-संत इस बात का दावा ठोकते हैं कि ताजमहल तेजो महालय हैं और यहां पर शिव जी का प्राचीन मंदिर हुआ करता था मुगलों ने मंदिर के ऊपर ताजमहल बनवाने का कार्य किया है इसलिए वापस अपनी हिंदुओं की सरकार में ताजमहल को तेजो महालय घोषित करने की मांग साधु-संतों ने कई बार उठाई है।

आपकी क्या राय है हमें कमेंट कर जरूर बताये :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here